Click to Download this video!

भैया के दोस्त ने मुझे होटल में ले जाकर चोदा

Bhaiya ke dost ne mujhe hotel me le jakar choda:

hindi porn stories, desi kahani

मेरा नाम आशा है और मैं कॉलेज में पढ़ने वाली एक लड़की हूं। मेरी उम्र 22 वर्ष है। मेरे घर में मेरे माता-पिता और मेरे दो भाई हैं। वह दोनों ही मुझसे बड़े हैं और मैं घर में सबसे छोटी हूं। इस वजह से सब लोग मेरी बहुत ही चिंता करते हैं और मुझे बहुत प्यार करते हैं। अपने भाइयों के साथ घर में मैं बहुत ही मस्ती किया करती हूं और हमेशा ही मैं  चिल्लाती रहती हूं। मैं जब उन्हें छेड़ती हूं तो वह मुझे कहते हैं कि तुम हमें कुछ ज्यादा ही परेशान किया करती हो। मेरे दोनों भाई बहुत ही अच्छे हैं और जब मुझे पता चला कि मेरे बड़े भैया की गर्लफ्रेंड है तो तब से मैंने उसकी जान मैं आफत कर दी है। मैं उससे हमेशा ही पैसे ले लिया करती हूं और कहती हूं यदि तुम मुझे पैसे नहीं दोगे तो मैं पापा को सब कुछ बता दूंगी। अब वह मजबूरी में मुझे पैसे देता है और मैं उसे पैसे लेती रहती हूं।

एक दिन भैया के दोस्त हमारे घर पर आए उनका नाम राजीव  है और वह एक इंजीनियर है। जब मेरे भैया ने राजीव से मुझे मिलाया तो मुझे राजीव बहुत ही सिंपल और अच्छा लड़का लगा। मुझे ऐसा लगा कि शायद मुझे राजीव से बात कर लेनी चाहिए लेकिन मैं उससे ज्यादा बात नहीं कर रही थी। मुझे अंदर से लग रहा था कि मैं राजीव से बात करूं परंतु मैंने फिर भी राजीव से ज्यादा बात नहीं की और वह मेरे भैया के साथ ही बात कर रहा था  अब एक दिन मैं अपनी सहेली के साथ बाजार घूम रही थी, तभी राजीव आगे से अपनी कार में आ रहा था। राजीव ने मुझे देखते ही अपनी कार रोक लिया और कहने लगा कि आओ मैं तुम्हें घर छोड़ देता हूं। मैंने उसे कहा कि हम लोग अभी सामान ले रहे हैं यदि तुम रुक सकते हो तो तुम रुक जाओ। हम लोग थोड़ी देर बाद ही घर जाएंगे। वो कहने लगा कि ठीक है मैं तुम्हारे साथ ही सामान लेने में तुम्हारी मदद करता हूं। अब वह अपनी गाड़ी को पार्किंग में लगाकर हमारे साथ सामान लेने आ गया। वह जब हमारे साथ सामान लेने आया तो मुझे भी बहुत अच्छा लग रहा था। जब हम लोग सामान ले रहे थे तो राजीव हमारी बहुत ही मदत कर रहा था। मेरी सहेली बोलने लगी की यह तो हमारी कुछ ज्यादा ही मदद कर रहा है। राजीव ने ही उस दिन हमारे सामान के पैसे दिए थे और मैंने उसे कहा कि तुम पैसे क्यों दे रहे हो लेकिन वह कहने लगा कि यह मेरी तरफ से तुम्हारे लिए गिफ्ट है क्योंकि राजीव इंजीनियर था और वह एक अच्छे पद पर भी था जिसकी वजह से उसके पास पैसे की कोई कमी नहीं थी। उसके पापा भी एक बहुत बड़े अधिकारी थे जो कि अब रिटायर हो चुके हैं।

राजीव मुझे कहने लगा कि यदि तुम्हारी शॉपिंग हो गई हो तो हम लोग कुछ खा लेते हैं मुझे बहुत ही तेज भूख लग रही है। अब हम लोग पास में एक रेस्टोरेंट में चले गए। जब हम रेस्टोरेंट में गए तो राजीव ने स्नेक्स आर्डर कर दिए और हम लोग बैठकर वह स्नैक्स खाने लगे। राजीव ने कुछ कोल्ड्रिंक्स भी ले ली थी और वह मुझे कह रहा था कि तुम यदि कुछ और खाना चाहती हो तो तुम ऑर्डर कर सकती हो लेकिन मैंने कहा कि मेरे खाने की इच्छा नहीं है। मैं फ़िलहाल इतना ही खा लूं वह भी बहुत है। तब राजीव मुझे चिड़ाने लगा और कहने लगा कि मुझे लगता है शायद तुम डाइटिंग कर रही हो। मैंने उसे कहा कि डाइटिंग नहीं कर रही हूं मैं खाती ही कम हूं। वह मुझे बहुत ज्यादा छेड़ने लगा। मैं भी उसके साथ मजाक करने लगी और वह मुझे बहुत ही चिढ़ा रहा था और हम लोग हस के बात कर रहे थे। मुझे राजीव के साथ बहुत ही अच्छा लग रहा था। मैंने उस दिन राजीव का नंबर भी ले लिया और अब वह मुझे घर छोड़ने आया। पहले उसने मेरी सहेली को उसके घर पर छोड़ा उसके बाद हम दोनों घर पर आए। अब वह मेरे साथ मेरे घर पर ही आ गया। वह मेरे भैया से मिला और कहने लगा कि मुझे आशा रास्ते में मिल गई थी तो मैं उसे अपने साथ ही ले आया। मेरे भैया कहने लगे यह तो तुमने बहुत ही अच्छा किया। अब थोड़ी देर बाद राजीव अपने घर चला गया और राजीव ने मुझे मेरे फोन पर एक बहुत ही बढ़िया जोक भेजा, जिससे कि मुझे बहुत हंसी आई और उसके बाद मैं उसे भी जोक भेज दिया करती। अब मैंने उसे फोन करना शुरू कर दिया। धीरे-धीरे हम दोनों की बातें बहुत ज्यादा बढ़ने लगी थी। राजीव अक्सर मेरे कॉलेज में मुझे लेने के लिए आ जाया करता था और वह मुझे घर पर ही छोड़ देता था। हम लोग साथ में मूवी भी जाते थे और कभी समय मिलता तो हम लोग कहीं आउटिंग पर भी चले जाते थे। वह मुझे हमेशा नए नए रेस्टोरेंट्स में लेकर जाता था और कहता था की मुझे खाने का बहुत ही शौक है इसलिए मैं नए नए रेस्टोरेंट में जाना पसंद करता हूं। मैं राजीव के साथ रात को बहुत देर तक फोन पर बात किया करती थी और वह भी मुझसे बहुत देर तक बात करता था। मुझे समझ नहीं आ रहा था कि हम दोनों के बीच में चल क्या रहा है लेकिन मुझे उसके साथ समय बिताना बहुत ही अच्छा लग रहा था।

एक दिन राजीव मेरे कॉलेज मुझे लेने के लिए आया और हम दोनों साथ में एक लॉन्ग ड्राइव पर चले गए। मुझे उसके साथ लॉन्ग ड्राइव पर जाना बहुत ही अच्छा लगता था और जब उसने मेरे हाथ को अपने हाथों में लिया तो मुझे और भी अच्छा लगने लगा। मैंने उससे चलती गाड़ी में किस कर लिया लेकिन उसने गाड़ी को रोक लिया और कहने लगा कि मुझसे बिल्कुल सफर नहीं हो रहा है। हम लोग एक काम करते हैं किसी होटल में चलते हैं अब हम लोग एक होटल में चले गए जहां हमने रूम ले लिया और हम दोनों वहीं चले गए। जब हम लोग रूम में गए तो मुझे राजीव ने किस करना शुरू कर दिया वह बहुत ही अच्छे से मेरे होठों को अपने होठों में ले रहा था। मुझे बहुत अच्छा लग रहा था जब वह इस प्रकार से मुझे किस कर रहा था मुझसे बिल्कुल भी नहीं रहा गया और मैंने भी उसके लंड को हिलाते हुए अपने मुंह के अंदर समा लिया। जब मैंने उसके लंड को अपने मुंह में लिया तो मैं बहुत ही खुश हो गई क्योंकि उससे एक अलग ही तरह के की खुशबू आ रही थी।

मैं उसके लंड को अपने अंदर तक लेकर चूसने लगी काफी देर ऐसा करने के बाद मैंने अपनी जींस को खोल दिया मैंने अपने दोनों पैरो को उसके सामने चौड़ा कर दिया। जब मैंने ऐसा किया तो उसने मेरी चूत को चाटना शुरू कर दिया और उसने बहुत ही अच्छे से मेरी योनि को चाटा जिससे कि मेरी योनि से तरल पदार्थ निकलने लगा। वह भी मेरी योनि को अच्छे से चाट रहा था लेकिन थोड़ी देर बाद मुझसे नहीं रहा गया और उसने जैसे ही मेरी चूत मे अपने डाला को डाला तो मेरे चूत से खून की पिचकारी उसके लंड पर जा गिरी। वह बड़ी तीव्र गति से मुझे झटके मारने लगा। उसने मेरे दोनों पैरों को कसकर पकड़ लिया और मुझे इतनी तीव्रता से धक्के दिए जा रहा था कि मुझे बड़ा ही मजा आ रहा था। वह बहुत तेजी से मुझे धक्के मारता जाता जिससे कि मेरा पूरा शरीर गरम होने लगा और मेरा शरीर हिलने लगा। अब उसने मेरे स्तनों को अपने मुंह के अंदर लेकर चूसना शुरू कर दिया। वह मेरे स्तन को अपने मुंह के अंदर तक लेकर चूसता जाता थोड़ी देर बाद उसने मुझे घोड़ी बना दिया। मेरी चूत मे जैसे ही उसने अपने लंड को डाला तो मैं उछल पड़ी मुझे बहुत ही अच्छा लगने लगा है। वह मुझे बड़ी तेज तेज धक्के मार रहा था जिससे कि मेरा पूरा शरीर हिल रहा था मुझे बड़ा ही आनंद आ रहा था। उसने काफी देर तक मेरे साथ ऐसा ही किया जिसके बाद उसका वीर्य मेरी योनि में गिर चुका था। अब हम दोनों ऐसे ही लेटे रहे कुछ देर बाद उसे याद आया कि उसे घर जाना है। हम दोनों ने जल्दी से अपने कपड़े पहने राजीव ने जल्दी से अपनी कार पार्किंग से बाहर निकालते हुए होटल का बिल पे किया। हम दोनों घर चले गए उसके बाद से तो हम दोनों ने बहुत बार सेक्स कर लिया है। मुझे राजीव के साथ सेक्स करने में एक अलग ही अनुभूति होती है वह भी मेरे साथ सेक्स करते हुए बहुत खुश होता है।


Comments are closed.



Online porn video at mobile phone


chudai ka khel ghar medevar bhabhi ki chudai kimaa ne bete ko chodabaap beti ki sex storyladki ki chut chatnachachi ko maa banayaantrvasmabhabhi ki chudai hindi sex kahanibahan ki chut in hindiaunty ki chudai kahani with photochuchi ki kahanischool teacher ki chudai kibhabhi ki jabardasti chudai storyfree bhabhi sexhindi may sex storyhindi saxy imagebhabhi ki jawani sexmaa ke sath chudai kahaniboor ki chudai ki kahanihindi sex story bhai behanstudent ko chodachachi ki chudai antarvasna comchut chtwaisexy story of bhai behanmaa chudainaukar ke sathindian balatkar sexhinde sixejija sali sexdesi chodonwww hindi sex store comrekha ki chudaibahan chudai hindinaukar ki chudaisex khaniya hindihindi chut comgf ko chodnasuhagraat chudaichut ke darshanzabardasti bhabhi ko chodarandi ko chodne ki kahanimallu aunty ki chudai kahanisexy hindi story auntysuhagrat and sexraat ki mast chudaipyasi malkinantarvasna ki hindi storysex in sadiholi me chodabeti ne baap se chudwayachudai kahani bhabhi kilund sex chutrand ki ganddesi coohtchudai ki daastanhindi sex kahani with photolund choot hindichudai ki kahani hindi languagexxx chudai ki kahani in hindimousi ki chudai ki kahanimaa ne bete se chudai kiaunty ne chodamota lund sexmakan malkin ki gand marim antravasna combus me chodahindi ki chuthindi sex story familychodne kachut wali aunty