Click to Download this video!

मैं और मेरी निशा भाभी

Main aur meri Nisha bhabhi:

bhabhi sex stories, antarvasna

मेरा नाम निशांत देशपांडे है और मैं बिहार का रहने वाला हूँ | मेरी उम्र 23 साल है और मैं प्राइवेट जॉब करता हूँ | मेरा रंग काला है और मैं दिखने में भी अच्छा नहीं लगता | मेरी हाईट 5 फुट 7 इंच है और मोटा भी हूँ | दोस्तों ये मेरी पहली कहानी है और एक दम सच्ची घटना है तो मैं उम्मीद करता हूँ कि आप लोगो को मेरी कहानी जरुर पसंद आएगी | ये घटना तब की है जब मैं 2nd इयर में था | मैं अब आप लोगो को अपनी फमिली के बारे में बताता हूँ | मेरे घर में मेरे अलावा मेरे पापा ( राहुल देशपांडे ) जो कि बैंक में मेनेजर हैं और मम्मी ( आराधना ) जो स्कूल में टीचर हैं | मेरा एक बड़ा भाई जो दिल्ली में रह कर एक मल्टीनेशनल कंपनी में जॉब करता है | मेरे बड़े भाई की शादी हो चुकी है और मेरी भाभी ( निशा ) हमारे साथ ही रहते हैं | अभी भैया और भाभी के एक भी बच्चे नहीं हैं | मेरी भाभी दिखने में बहुत सुन्दर हैं और उनका फिगर प्रियंका चोपडा जैसा है | भाभी को डांस का बहुत शौख है पर शादी के बाद उन्होंने डांसिंग छोड़ दी | आज जो मैं आप लोगो के सामने कहानी पेश कर रहा हूँ ये मेरे और मेरी भाभी के बीच बने सम्बन्ध की |

शादी के बाद भैया की जॉब यहाँ से दिल्ली में लगी | पहले भैया यहीं पर रह कर छोटी मोटी जॉब करते थे फिर बाद में भैया ने वहां इंटरव्यू दिया और सेलेक्ट हो गए | भैया को वहां दो साल तक रहना था उसके बाद भैया को अब्रोड भेज दिया जाता | हम सब बहुत खुश थे भैया की तरक्की देख कर | भैया तो चले गए | लेकिन भाभी नहीं जा पाई | क्यूंकि मम्मी भी जॉब करती हैं तो घर का काम भाभी को ही करना पड़ता है और मैं कॉलेज भी कम ही जाता था | मतलब मैं और भाभी घर पर अकेले ही रहते थे | मैंने अपनी भाभी को कभी भी गन्दी नजरो से नहीं देखा | लेकिन एक दिन की बात है मैं सोफे में बैठ कर टीवी देख रहा था और भाभी शायद नहाते वक़्त दरवाजा लगना भूल गई होंगी और मुझे बहुत जोर से बाथरूम आई तो मैंने धडधडाते हुए दरवाजा खोला | मैंने देखा भाभी नहाते वक़्त अपनी चूत में ऊँगली कर रही थी और उन्होंने मुझे देख कर जल्दी से अपने बदन को छुपाने लगी | मैं भी भाभी को सॉरी बोलते हुए दरवाजा बंद कर दिया और थोड़ी देर उनके बाहर निकलने का वेट करता रहा | जब मैं वापस सोफे पर आया तो मुझे बहुत अजीब सा लग रहा था क्यूंकि भाभी एक दम नंगी थी और एक हाँथ में वो अपने दूध दबाये हुए थी और एक हाँथ से अपनी चूत में ऊँगल कर रही थी | मेरी साँसे तेज हो चुकी थी और मुझे समझ में नहीं आ रहा था कि भाभी का सामना अब मैं कैसे करूँगा | जैसे ही भाभी निकली तो उन्होंने मुझे आवाज़ देते हुए कहा निशांत चले जाओ मैंने नाहा ली |

मैंने कुछ नहीं कहा और चुपचाप बाथरूम कर के वापस आ गया | उस समय 12 बज रहे थे और मुझे बहुत जोर से भूख लगी थी और भाभी किचिन में ही थी | पर मुझे भाभी से बोलने में बहुत शर्म आ रही थी | मैंने भाभी से कहा भाभी मुझे भूख लगी है | भाभी ने कहा ठीक है मैं खाना लगा देती हूँ | मुझे लगा कि शायद भाभी गुस्सा हैं तो मैंने कहा भाभी आप मुझसे गुस्सा हो क्या ? भाभी ने कहा नहीं मैं गुस्सा नहीं हूँ लेकिन मुझे उस बारे में कुछ बात नहीं करना है | मैंने कहा ठीक है भाभी | खाना खाने के बाद मैं अपने कमरे में जा कर मोबाइल में गेम खेलने लगा | तब तक मम्मी भी आ गई थी | उसके बाद जैसे तैसे शाम गुजर गई लेकिन मैंने और भाभी ने बात नहीं किये | उसी रात को खाना खाने के बाद हम सब सोने चले गए | रात को 1 बजे मेरी नींद खुली और मुझे बाथरूम लगी थी | मैं बाथरूम जा रहा था तो देखा कि भाभी के रूम की लाइट जल रही है | मेरी समझ में नहीं आया कुछ तो मैंने सोचा कि पहले बाथरूम कर लूं उसके बाद देखता हूँ | मैं बाथरूम कर के वापस आया तब भी लाइट जल रही थी | मैंने जब दरवाजे के छेद से देखा तो भाभी पूरी नंगी हो कर चूत में कंघी का पिछला हिस्सा डाल कर जोर जोर से अन्दर बाहर कर रही थी | ये देख कर मेरा लंड भी खड़ा हो गया और मेरा नजरिया तुरंत वहीँ बदल गया | अब मैं भाभी को हवास भरी नजरो से देखने लगा | मैंने सोचा कि चलो इससे अच्छा मौका मुझे नही मिलेगा तो इस मौके का फायेदा उठाया जाये |

मैंने भाभी का दरवाजा नॉक किया तो भाभी जल्दी से अपना गाउन पहन कर दरवाजा खोला | मैंने भाभी से पुछा भाभी बड़ी देर लगा दी दरवाजा खोलने में तो भाभी ने कहा हाँ वो मैं सो रही थी | मैंने कहा अच्छा भाभी सुनो तो आपसे कुछ बात करना है | भाभी ने अन्दर बुलाया और कहा हाँ बोलो | मैंने कहा भाभी आपको भैया की बहुत याद आती है न ? भाभी ने कहा क्या मतलब ? मैंने कहा भाभी आप रोज रोज जो हस्तमैथून करती हो मैं इसकी बात कर रहा हूँ | अब भाभी का चेहरा शर्म से लाल हो गया था | भाभी कुछ नहीं बोली और एक दम से मेरे गले लग कर रोने लगी | मैंने कहा भाभी रो मत बताओ न क्या बात है ? भाभी ने कहा मैं क्या बताऊं निशांत मुझे सेक्स की बहुत इच्छा होती है अब तेरे भैया तो वहां दिल्ली में हैं और यहाँ मैं सेक्स की आग में जलती रहती हूँ | मैंने कहा भाभी भैया कोनसा हमेशा के लिए वहां हैं बस दो साल की ही तो बात है | तो भाभी ने कहा तुम सब के लिए दो साल की बात है मेरे लिए तो दो सौ साल की बात जैसा है | मैंने भाभी के हाँथ में हाँथ रख कर कहा भाभी अगर आपको इतनी ही लालसा है सेक्स की तो मैं आपकी मदद कर सकता हूँ | भाभी ने पुछा वो कैसे ? मैंने कहा देखो आप रोज रोज हस्तमैथून करोगे तो आपको बहुत ज्यादा सेक्स करने की इच्छा होगी इसीलिए जब तक भैया नहीं आते आप मेरे साथ अपनी सेक्स की आग बुझा सकती हैं | भाभी ये सुन कर खुश हो गई और मुझे गले से लगा ली | अब माहोल बदल चूका था | अब मैं और भाभी एक दुसरे के साथ सम्भोग करने को रेडी थे | भाभी ने मेरे होंठ में अपने होंठ रख दी और किस करने लगी |

मैं भी भाभी का साथ देते हुए उनके होंठ को सक करने लगा | भाभी ने मेरे होंठ को चूसते हुए मेरे बदन को सहला रही थी और मैं भाभी के होंठ को चूसते हुए उनके दूध दबा रहा था | कुछ देर किस करने के बाद मैंने भाभी के गाउन को उतार दिया | भाभी एक दम नंगी थी अन्दर कुछ भी नहीं पहना हुआ था | मैंने उसके दूध को अपने मुंह में ले कर चूसने लगा तो भाभी के मुंह से सिस्कारियां निकलने लगी | मैं भाभी एक दूध को जोर जोर से दबा कर चूस रहा था और भाभी मेरे सिस्कारियां भरते हुए मेरे चेहरे को हाँथ फेर कर सहला रही थी | कुछ देर बाद मैंने भी अपने कपडे उतार दिया और भाभी ने मेरे लंड को अपने मुंह के पास ला कर जीभ से चाटने लगी | भाभी मेरे लंड के हर हिस्से को बहुत अच्छे से चाट रही थी और मैं सिस्कारियां ले रहा था | फिर भाभी ने मेरे लंड को अपने मुंह के अन्दर ले ली और चूसने लगी और मैं सिस्कारियां  भर रहा था | भाभी मेरे लंड को खूब आगे पीछे करते हुए चूस रही थी और मैं सिस्कारियां लेते हुए उनके मुंह की चुदाई कर रहा था | फिर मैंने भाभी को लेटा दिया और उनके दोनों पैरो को खोल कर चूत को चाटने लगा तो भाभी के मुंह से जोर जोर से सिस्कारियां निकलने लगी | मैं भाभी की चूत चाटते हुए उनके बड़े बड़े दूध भी दबा रहा था और भाभी सिस्कैर्याँ लेते हुए चोदो चोदो कर रही थी | फिर मैंने अपने लंड को चूत के अन्दर डाला और चोदने लगा और भाभी सिस्कारियां लेते हुए चुदाई के मजे लेने लगी | मैं भाभी की चूत जोर जोर से धक्के मारते हुए चोद रहा था और भाभी सिस्कैर्यं लेते हुए पानी छोड़ चुकी थी | कुछ देर की चुदाई के बाद मैंने भी अपना पानी भाभी की चूत के अन्दर ही छोड़ दिया | उसके बाद मैंने और भाभी ने डेढ़ साल तक रोजाना चुदाई किये | तो दोस्तों ये थी मेरी कहानी | मैं उम्मीद करता हूँ कि आप लोगो को मेरी कहानी पसंद आई होगी |


Comments are closed.


error:

Online porn video at mobile phone


muslim ladki ki chudai hindi storychut kahani with photosaas aur damadlalita bhabhi ki chudaibhabhi se chudai ki kahanidevar bhabhi sexy kahanimami ki chut in hindisaxi khaniyabehan ki chudai raat memosi ki chut mariझवनेsexy cartoon comics in hindibhaiya aur bhabhi ki chudaima ki chudai ki khaniristo ki chudaiwww boor ki chudai comchut ki chudai kiantarvasna free sex storybhai ne chut phadibiwi ki chudai ki kahanigaand lundhindi bhasa me chudai ki kahanimaa beta ki sex storymoti gand wali bhabhi ki chudaihot chudai hindi storynangi nachtrue hindi sexy storyindian sex stories maamarati sax storysexy story hinde mchuchi ka dudh piyanokar malkin sexbhai ki sexy storybhai behan ki hindi kahanihindi sexi chutkahani sex videosaale ki chudaichut chudai kahani in hindimaa ki burmom ki chut ki kahanisali ko chodadesi aurat sexindian devar bhabhi ki chudaimadhuri ki gaandbhai ne nahate hue chodahijra ke chodarakha ki chutmaa ko sab ne chodadesi sex buschachi ki chut in hindimaa ki sexy chutbhai ke sathchut lund ka milandesi chudai kahani in hindi fontdesi group sex storiesdesi sexy chudai photonangi chut me lundhamarivasnabhabhi ke sath sexmaa bete ki chudai ki hindi kahaniantarvasna audio sex storyhindi maa ki chudai ki kahanijyoti ki chutmausi ki gand marijija ne sali ki chudaimummy ki chudai sex storyboor chudai kahani hindi mebahan ki chudai ka videowww kamukta sex comwww bhabhi ki chut ki chudaididi ki gand chudai