Click to Download this video!

रेस्टोरेंट की मालकिन की गांड उसके रेस्टोरेंट में मारी

Restaurant ki malkin ki gaand uske restaurant me maari:

hindi chudai ki kahani, sex stories in hindi

मेरा नाम अंकित है, मैं दिल्ली का रहने वाला हूं। मेरा नेचर तो बहुत ही साधारण और सिंपल है, मेरी उम्र 26 वर्ष की है परंतु मैं बहुत ही दुबला पतला हूं जिसकी वजह से  मेरा हर जगह पर मजाक बन जाता है इसलिए मैं अब ज्यादा किसी से भी संपर्क में नहीं रखता। मुझे बहुत ही बुरा लगता है जब कोई मुझे चिड़ाता है। मेरे पापा भी कई बार कहते हैं कि तुम कुछ इलाज क्यों नहीं करवा लेते, मैंने उन्हें कहा कि मैंने कितनी बार अपना इलाज करवा लिया और कितनी दवाइयां खा ली परंतु कोई भी फर्क नहीं पड़ता। मैं जितना भी कमाता हूं वह सारा पैसा मेरे अपने खर्चे पर ही निकल जाता है लेकिन उसके बावजूद भी मेरे शरीर में कोई भी असर मुझे नहीं दिखाई दे रहा था।

मुझे बिल्कुल भी समझ नहीं आता कि मुझे क्या करना चाहिए। एक बार मेरी मुलाकात एक व्यक्ति से हुई उनकी बहुत ही अच्छी पर्सनैलिटी थी। मैंने जब उन्हें कहा कि मुझे भी आपके जैसी पर्सनेलटी बनानी है तो वह पहले मुझे ऊपर से नीचे तक देख कर हंसने लगे और कहने लगे की तुम्हें मेरी जैसी पर्सनेलटी बनाने में तो बहुत समय लग जाएगा लेकिन तुम अपना शरीर अच्छा बना पाओगे इस कि मैं तुम्हें गारंटी देता हूं। उन्होंने मुझे अपना कार्ड दिया और कहा कि मेरा जिम है, तुम इसमें मेरे पास ट्रेनिंग के लिए आ सकते हो। मैंने कहा कि ठीक है मैं आपके पास ट्रेनिंग के लिए आ जाऊंगा। कुछ दिनों तक मैं सोचता रहा कि क्या मुझे जिम जाना चाहिए क्योंकि वहां पर भी सब लोग कहीं मेरा मजाक ना बना दे। मैंने यह सोचते हुए उस नंबर पर फोन नहीं किया और ना ही मैंने उन व्यक्ति से बात की परंतु एक दिन मुझे लगा कि मुझे जिम जाना ही चाहिए तो उस दिन मैंने उन व्यक्ति को फोन कर दिया और उनके जिम में चला गया। जब मैं उनसे मिलने गया तो वह मुझे कहने लगे कि तुमने इतने समय से मुझे फोन क्यों नहीं किया, मैंने उन्हें कहा कि मैं घर की कुछ समस्याओं में उलझा हुआ था इसलिए मैं आपको फोन नहीं कर पाया। उन्होंने मुझे डाइट चार्ट बना कर दिया और कहने लगे कि तुम्हे यही खाना होगा और मैं तुम्हें कुछ सप्लीमेंट भी दे देता हूं जिससे कि तुम्हें बहुत असर होगा। उन्होंने मुझे कुछ सप्लीमेंट और मेरा डाइट प्लान बना कर दे दिया।

मैं वही खाता था जो उन्होंने मुझे डाइट प्लान बना कर दिया था। मैं हमेशा ही जिम जाता था। मैंने कभी भी जिम मिस नहीं किया इसलिए मुझे भी थोड़ा अपने अंदर असर दिखने लगा था। वह मुझ पर बहुत ही ज्यादा मेहनत कर रहे थे और कह रहे थे कि तुम पर बहुत जल्दी असर आ जाएगा, उनका नाम राकेश है और उनके पास बहुत से लोग आते हैं लेकिन वह मुझ पर बहुत ध्यान देते थे और धीरे-धीरे मेरा शरीर भी ठीक होने लगा था और मुझे भी अपने अंदर ऐसा महसूस होने लगा था कि अब मेरा शरीर खुलता जा रहा है। मैं हमेशा ही अपने आप को जब शीशे में देखता था तो मुझे हमेशा कुछ न कुछ बदलाव अपने शरीर में दिखाई देता था। मैंने जब इस बारे में राकेश से बात की तो कहने लगे कि इसमें तुम्हें समय लग जाएगा परंतु जब तुम्हारा शरीर पूरी तरीके से खुलेगा तो तुम्हारी पर्सनेलटी बहुत ही अच्छी होगी। मैं उनके बताए हुए डाइट चार्ट को फॉलो करता था और जो एक्सरसाइज वह बताते थे मैं उसे ही करता था। मुझ में बहुत ज्यादा फर्क आने लगा था और मेरी पर्सनैलिटी भी अच्छी हो गई थी। मैं अपने पुराने दोस्तों से मिलता तो वह मुझे कहते कि अब तो तुम बहुत ही अच्छे दिखने लगे हो, पहले तो तुम्हारे गाल अंदर की तरफ थे पर अब तुम्हारी पर्सनैलिटी अच्छी हो गई है क्योंकि मैं अपने दोस्तों से काफी समय बाद मिला था इसलिए वह लोग मुझे पहचान भी नहीं पा रहे थे और कह रहे थे तुम तो पूरी तरीके से ही बदल चुके हो। मैंने उन्हें कहा कि यह मेरे जिम के ट्रेनर का कमाल है। मैं हमेशा ही जिम जाता था और मेरा शरीर पूरी तरीके से बदल चुका था। मेरे शरीर में इतना ज्यादा बदलाव आ गया कि मेरे घरवाले कहने लगे कि तुम तो पूरी तरीके से ही बदल चुके हो। अब मैं भी अपने आप से खुश था और मुझे भी अच्छा लगता था कि मैं चार लोगों के बीच में अब खुलकर बात कर सकता था।

पहले मैं उनसे अच्छे से बात भी नहीं कर पाता था क्योंकि मुझे बात करना अच्छा नहीं लगता था और मुझे ऐसा लगता था कहीं वह लोग मेरी बेज्जती ना कर दे। हमारे जिम में बहुत सारी लड़कियां और महिलाएं आती थी, उनमें से एक महिला मुझे हमेशा ही देखती थी, उसका नाम सरिता है। वह मुझे कहने लगी कि तुम्हारा शरीर तो बिल्कुल ही बदल चुका है, मैं तो तुम्हे शुरू से ही देख रही हूं लेकिन तुम्हारे अंदर बहुत ज्यादा बदलाव हुआ है। मैंने उसे कहा कि यह सब पूरा ट्रेनर का कमाल है यदि वह मुझ पर ध्यान नहीं देते तो शायद मेरा शरीर इतना अच्छा नहीं बन पाता लेकिन उन्होंने मुझ पर इतना ध्यान दिया इसी वजह से मेरा शरीर इतना ज्यादा अच्छा बन पाया। सरिता भी उसी जिम में काफी समय से आ रही है और वह भी अपने शरीर को लेकर बहुत ज्यादा परेशान थी। वह अपने फिगर को बहुत मेंटेन रखती थी और इसीलिए उसने मुझसे बात की और कहने लगी कि तुमने अपने शरीर में बहुत ज्यादा बदलाव लाया है। सरिता की और भी सहेलियां हमारे जिम में आती थी और मेरी उनसे भी अच्छी बातचीत होने लगी। अब मुझे किसी से भी बात करने में शर्म नहीं आती थी और मैं सब से खुलकर बात करता था। सरिता का अपना ही एक रेस्टोरेंट है और वह उसे ही चलाती है।

वह मुझे कहने लगी कि कभी तुम हमारे रेस्टोरेंट में आओ, मैंने उसे कहा कि मैं डाइट फॉलो कर रहा हूं,  उसने कहा कि हमारे रेस्टोरेंट में सब मिल जाएगा तुम उसकी बिल्कुल भी चिंता मत करो। उसने मुझे अपना रेस्टोरेंट का कार्ड दे दिया और जब मैं एक दिन उसके रेस्टोरेंट में गया तो वह मुझे देखकर बहुत खुश हुई। वह मुझे कहने लगी आज आप यहां कैसे आ गए। मैंने उसे कहा कि मैं आज इस रास्ते से गुजर रहा था तो सोचा आप से मिलता चलू, वह मुझे रेस्टोरेंट में अपने केबिन में ले गई और उसने वही पर मेरे लिए कॉफी ऑर्डर करवा दी, हम दोनों बैठ कर बातें कर रहे थे। जब मैं सरिता के साथ बैठ कर उससे बात कर रहा था तो उसे मुझसे बात करना बहुत अच्छा लग रहा था। उसने जब मेरी छाती पर हाथ रखा तो मैं समझ गया कि यह मेरे बारे में क्या सोच रही है। मैंने भी तुरंत उसके स्तनों को दबा दिया मैंने उसके स्तनों को बहुत जोर से दबाया जिससे कि उसके मुंह से आवाज निकल गई और मैंने उसे बहुत तेजी से दबाना शुरू कर दिया। मैंने अपने लंड को बाहर निकालते हुए सरिता के मुंह में डाल दिया उसने मेरे लंड को बहुत ही अच्छे से अपने मुंह के अंदर लेते हुए चूसना जारी रखा। मैंने भी उसकी पैंट को नीचे उतारते हुए उसकी गांड को बहुत देर तक चाटा जिससे कि उसे बहुत अच्छा महसूस होने लगा वह कहने लगी कि टेबल की दराज में सरसों का तेल रखा हुआ है तुम उसे अपने लंड पर लगा लो। मैंने जब वह सरसों का तेल अपने लंड पर लगाया तो मेरा लंड पूरा चिकना हो चुका था। मैंने जब अपने लंड को सरिता की गांड के अंदर डाला तो वह चिल्लाने लगी। वह बहुत तेजी से चिल्ला रही थी मैं उसे उतनी ही तेजी से धक्के दे रहा था मुझे उससे धक्के मारने में बहुत मजा आ रहा था और मैं उसे बड़ी तीव्र गति से झटके मारने लगा। उसकी गांड से आग बाहर की तरफ निकल रहा था और मुझे बड़ा मजा आ रहा था। जब मैं उसकी गांड मार रहा था मुझे उसकी गांड मारने में इतना मजा आ रहा था वह अपनी गांड को मुझसे मिलाने लगी। वह मुझे कहने लगी तुम्हारा लंड तो मेरी गांड के अंदर तक जा रहा है मुझे बड़ा अच्छा महसूस हो रहा है। तुमने तो मेरी गांड के घोड़े खोल कर रख दिए है यह कहते हुए वह भी अपनी गांड को मुझसे बड़ी तेजी से टकरा रही थी और मैं भी उसे बड़ी तेज तेज धक्के मार रहा था। लेकिन उसकी गांड से कुछ ज्यादा ही गर्मी बाहर की तरफ आने लगी और मुझसे बिल्कुल भी वह गर्मी बर्दाश्त नहीं हो रही थी मेरा माल गिरने वाला था तो मैंने अपने लंड को उसकी गांड से बाहर की तरफ निकालते हुए उसकी चूतड़ों पर वीर्य गिरा दिया।


Comments are closed.



Online porn video at mobile phone


beti ki chodaichodam chudaischool teacher ki chudai kibhai bahan ki storybhabhi ki chudai story hindijangal mein mangal sex videochudai bhabhi hindiantarvasna sasur bahuandhe se chudaimeri chudai karodidi ki chudai kahanididi ne chudwayachut ki ladailambe lund ki photopagal ne chodalady dr ko chodatrain mein gaand maribhabhi ne seduce kiyakanchan ki chudaigandi kahani hindi meinpriya didi ki chudaihindi balatkar sex videochoot may landsali jija ki chodaiantarvasna gand marinew hot chudai kahanihindi chudai kahani newsangita sexbhabi sex hindiantarvasna maa chudaiboss ne chodabhojpuri bur ki chudaihot indian chudai storiesbhai bahan sex kahani hindiindian ladkiyo ki chutkutta sexjija sali ki chudai storyhindi chudai with photoindian chodai kahaninepal ki chutmummy ki chudai story with photosuhagrat pe chudaiaunty chudai in hindisexy choda chodimastram ki storymami ki bahan ki chudaisuhagraat ki pehli chudaichachi chudibhabhi kelatest chudaiantarvasna free hindi sex storiesboor chodne kaholi par bhabhi ki chudaisex story hindi bhai bahanhindi balatkar sex storychut land sexchut ki kahani photoindian sex stories gangbangdidi chutbadmasti sexyjaya ki chudaibhosda sexsexx story hindiaanti ki chudai storyhindi mai sex storyindian sadhu fuckingnipple chusnamosi ko choda hindihindi bf 2015rasili chutantervasna sex stories comhindi best sex story